खेल

Page Type

स्वस्थ मस्तिष्क स्वस्थ शरीर में निवास करता है। सेल के निगमित दर्शन में आरम्भ से ही खेलकूद को प्रोत्साहन अभिन्न अंग माना गया है। 1950 के अंतिम वर्षों में राउरकेला, भिलाई और दुर्गापुर के अस्तित्व में आने के समय से ही सेल ने अपनी इस्पात नगरियों में कर्मचारियों के लिए खेलकूद सुविधाओं की व्यवस्था की। इन क्षेत्रों में आधारभूत सुविधाओं के नाम पर जब लगभग कुछ नहीं था, इस्पात कर्मियों में ''घर से दूर घरों की तरह'' ये सुविधाएं दी गईं। इनका उद्देश्य कर्मियों में अपनत्व की भावना भरना था।

खेलकूद सुविधाएंइस्पात कर्मियों के जीवन में सामाजिक गतिविधियों के प्रमुख अंश के रूप में खेलकूद जोड़ने का उद्देश्य उन्हें न केवल शान से जीने के अवसर देना था, बल्कि उनमें शारीरिक कौशल बढ़ाने तथा अपनी चाहत पूरी करने के साथ-साथ एक साथ काम करने की भावना भरकर बेहतर नागरिक बनाना भी था। सेल ने टिस्को के सहयोग से 1960 के वर्षों में इस्पात कारखाना खेलकूद बोर्ड की स्थापना की। इसका उद्देश्य अन्तर-कारखाना प्रतियोगिताएं आयोजित कर तथा कर्मचारियों को आपस में मिलने का अवसर प्रदान कर प्रतियोगी भावना को बढ़ावा देना था। उस समय से अब तक सेल में खेलकूद का कई गुना विस्तार हुआ है तथा आज सेल अनेक राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं तथा खिलाड़ियों के साथ जुड़ा हुआ है। .

खेलकूद विकास के संबंध में सेल के दर्शन में निम्नलिखित पर जोर दिया गया है :

  • युवा प्रतिभावाओं की खोज कर उन्हें प्रशिक्षण देना तथा राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर तक ले जाना
  • कुछ चुने हुए खेलों पर अधिक ध्यान केन्द्रित करना 
  • चुने हुए खेलों के लिए अकादमियों का गठन 
  • छात्रवृत्तियां उपलब्ध कराकर भावी प्रतिभाओं को प्रोत्साहन

सेल की सभी खेलकूद गतिविधियों का संचालन निगमित स्तर पर एक समिति करती है। ये नीति निर्धारण तथा उसके कार्यान्वयन, बजट, इस्पात कारखानों तथा बाहरी संस्थानों आदि से समन्वयन का कार्य देखती है। प्रत्येक कारखाने/यूनिट में खेलकूद कक्ष स्थापित किया गया है जो समिति के कार्य में सहायता उपलब्ध कराता है। इस कक्ष का प्रमुख खेलकूद अधिकारी होता है जो यूनिट स्तर पर पूरे वर्ष खेलकूद गतिविधियों का आयोजन करता है। 

गत वर्षों में कंपनी ने 6 खेलकूद अकादमियां शुरू की हैं - राउरकेला में हॉकी, भिलाई में एथलेटिक्स (लड़कों के लिए), दुर्गापुर में एथलेटिक्स (लड़कियों के लिए), बोकारो में फुटबॉल, किरिबुरु में तीरंदाजी तथा बर्नपुर में फुटबॉल।

खेलकूद गतिविधियों पर निरन्तर जोर देने के परिणामस्वरूप ऐसे कई खिलाड़ी सामने आए हैं जिन्होंने विभिन्न राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में सेल का नाम रोशन किया है। ये अकादमियां इस्पात कारखानों के आसपास के क्षेत्रों तथा देश के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर प्रतिभावान युवाओं का चयन करती हैं। प्रशिक्षणार्थियों को प्रत्येक खेल में मान्यता प्राप्त प्रशिक्षकों की देखरेख में कड़ा प्रशिक्षण दिया जाता है तथा उन्हें उच्च स्तर की प्रतियोगिताओं के लिए तैयार किया जाता है।

खेलकूद सुविधाएंभारतीय खेल प्राधिकरण के सहयोग से सेल ने विभिन्न खेलों में दिन में प्रशिक्षण देने वाले केन्द्र भी शुरू किए हैं - राउरकेला में हॉकी और एथलेटिक्स के लिए, भिलाई में एथलेटिक्स और मुक्केबाजी के लिए, दुर्गापुर में फुटबॉल और एथलेटिक्स के लिए केन्द्र खोले गए हैं । सेल का रांची में एक खेलकूद उत्कृष्टता केन्द्र भी है जहां खिलाड़ियों के खेलों की समीक्षा और उनमें सुधार के उपायों के लिए योग्य खेलकूद चिकित्सक हैं। 

इस समय, कंपनी अपने मुख्य कारखानों (भिलाई, राउरकेला, दुर्गापुर, बोकारो और बर्नपुर) में पूरे वर्ष एथलेटिक्स, बास्केटबॉल, ब्रिज, शतरंज, क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी, कबड्डी, पावरलिफ्टिंग, वालीबॉल खेलों का आयोजन कर रही है। इसके अतिरिक्त, इस्पात कारखानों में बैडमिन्टन (शटल व बॉल), बॉडीबिल्डिंग, बॉक्सिंग, कैरम, जिमनास्टिक्स, हैण्ड बॉल, जूडो, कराटे, खो-खो, लॉन टेनिस, तैराकी, टेबल टेनिस, ताइक्वांडो, टै्रकिंग, भारोत्तोलन, कुश्ती और योग का भी आयोजन किया जाता है। 

सेल की इस्पात नगरियों में खेलकूद के लिए आधुनिक सुविधां उपलब्ध हैं। विकलांग लोगों के लिए सुविधाओं के अतिरिक्त इन नगरियों में राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खेल के मैदान, इन्डोर और आउटडोर कोर्ट, टै्रक, पूल, जिम्नास्टिक्स के लिए सुविधाएं और स्टेडियम भी हैं। 

सेल द्वारा खेलकूद पर निरन्तर जोर देने के परिणामस्वरूप ऐसे कई खिलाड़ी सामने आए हैं जिन्होंने आगे जाकर राज्य तथा राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लिया है। इसके अतिरिक्त सेल ने अपने कर्मचारियों तथा उनके बच्चों की टीमें तैयार की हैं जो विभिन्न राष्ट्रीय स्तर की खेलकूद प्रतियोगिताओं में भाग लेती हैं। इस समय कंपनी की फुटबॉल, क्रिकेट और हॉकी की नियमित टीमें हैं। संगठन स्थानीय तथा अन्य छुपी हुई प्रतिभाओं को प्रोत्साहन देने के लिए अवसर उपलब्ध करा रहा है। इसके अतिरिक्त प्रतियोगिताओं में भाग लेने का अनुभव प्रदान करने के उद्देश्य से टीमों को विभिन्न संगठनों के साथ जोड़ा गया है। सेल की फुटबॉल टीम भारतीय फुटबॉल संघ, कोलकाता और हॉकी टीम भारतीय हॉकी महासंघ के साथ सम्बध्द है।.

खेलकूद सुविधाएंदेश में नई प्रतिभाओं को प्रोत्साहन देने के लिए आयोजित सेल क्रिकेट ट्रॉफी का महत्व बना हुआ है। इसी प्रकार, गोल्फ के लिए सेल ट्रॉफी नियमित एशियाई सर्किट का अंग है।.

सेल ने अपनी इस्पात नगरियों तथा कंपनी द्वारा संचालित स्कूलों में प्राथमिक स्तर पर खेलकूद को बढ़ावा देकर खेलकूद को वैयक्तिक विकास के लिए जीवन की राह के तौर पर चुना है। प्रत्येक वर्ष सेल कर्मचारियों के बच्चों को राष्ट्रीय तथा क्षेत्रीय स्तर पर उपलब्धियों के आधार पर खेलकूद छात्रवृत्तिायां प्रदान की जाती हैं। आरम्भिक स्तर पर खेलकूद को प्रोत्साहन देने के लिए सेल हर वर्ष 24 जनवरी को अपने स्थापना दिवस पर देश भर के 13 शहरों में लघु मैराथन दौड़ का आयोजन करता है।

खेलकूद सुविधाएंसेल विभिन्न प्रमुख खेलकूद प्रतियोगिताओं का प्रायोजन भी कर रहा है। उदाहरण के लिए सेल ने अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए भारतीय महिला भारोत्ताोलन टीम, भारतीय डेविस कप टीम, चेन्नई ओपन (लॉन टेनिस), अखिल भारतीय जयपाल सिंह स्वर्ण हॉकी प्रतियोगिता, राउरकेला, एआईटीएफ-सेल (भारत-पाकिस्तान) लॉन टेनिस प्रतियोगिता, अखिल भारतीय टेनिस संघ, नई दिल्ली, 7वीं विश्व कॉर्फबॉल प्रतियोगिता, जवाहरलाल नेहरू हॉकी प्रतियोगिता, नई दिल्ली आदि को प्रायोजित किया अथवा उन्हें समर्थन उपलब्ध कराया। सेल अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ वर्ल्ड कप 2010 का प्रस्तुतिकर्ता भागीदार था। सेल सुशील कुमार जैसे पहलवान, जिसने राष्ट्रमण्डल खेल 2010 में स्वर्ण पदक तथा बीजिंग ओलम्पिक्स 2008 में कांस्य पदक जीत कर भारत का गौरव बढ़ाया, की भी सहायता कर रहा है। राष्ट्रमण्डल खेल 2010 में स्वर्ण पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्ता और रजत पदक विजेता निशानेबाज दीपक कुमार को प्रशिक्षण तथा अन्य आवश्यकताएं पूरी करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की गईं। 

डूरण्ड कप फुटबॉल टूर्नामेंट तथा डेविस कप टेनिस प्रतियोगिता के कई वर्ष तक प्रायोजन के अतिरिक्त कंपनी ने विभिन्न खिलाड़ियों की कई तरह से सहायता की है। इस प्रकार सेल से सहायता प्राप्त कुछ खिलाड़ियों ने अंतर्राष्ट्रीय खेलों में देश का नाम ऊंचा किया है। सेल से सहायता प्राप्त करने वालों में कुछ खिलाड़ी हैं - लिएण्डर पेस, निशा मिलेट, सहेली धर बरुआ, शिव सुन्दर दास, सत्य देव। ये खिलाड़ी अपने-अपने खेलों में काफी नाम कमा कमा चुके हैं।

खेलकूद सुविधाएं

इसके अतिरिक्त, अर्जुन/द्रोणाचार्य सम्मान से सम्मानित कुछ खिलाड़ी सेल में कार्य भी कर रहे हैं। इनमें बास्केटबॉल खिलाड़ी हनुमान सिंह, मुक्केबाज राजेन्द्र प्रसाद, बॉडीबिल्डर एस.के. पात्रा तथा साइक्लिंग में मिनती महापात्र शामिल हैं। . 

खेलकूद सुविधाएं

Set Order: 
4
Go to Top
Copyright © 2012 SAIL, all rights reserved
Designed & Developed by Cyfuture