सेल को विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कार

City Name: 
नई दिल्ली
Release Date: 
Tue, 09/18/2012 - 15:12

कुल पुरस्कार विजेताओं में से 54 प्रतिशत सेल से, पुरस्कार विजेता परियोजनाओं से 143 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष की नियमित बचत तथा एक बार की कुल 58.8 करोड़ रूपये की बचत

 

नई दिल्ली : "यह हम सभी के लिए बहुत ही गर्व का विषय है कि कुल विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कार विजेताओं में से आधे से अधिक स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) से हैं।" यह वक्तव्य सेल अध्यक्ष श्री सी.एस. वर्मा ने कल स्कोप कॉम्प्लेक्स में आयोजित विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कार विजेताओं के सम्मान समारोह में दिया। पिछले वर्षों की अपनी शानदार परम्परा को जारी रखते हुए, वर्ष 2010 के लिए कुल 118 विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कार विजेताओं में से सेल के 64 कार्मिकों ने यह पुरस्कार हासिल किया है, जिन्हें माननीय केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री श्री मल्लिकार्जुन खड़गे ने कल विज्ञान भवन में आयोजित एक भव्य समारोह में सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि सेल के पुरस्कार विजेता परियोजनाओं के क्रियान्वयन के परिणाम स्वरूप अनुमानित नियमित बचत 143 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष तथा कुल एक बार की बचत 58.8 करोड़ रुपये है।

सेल के पाँच संयन्त्रों - भिलाई इस्पात संयंत्र, बोकारो इस्पात संयंत्र, राउरकेला इस्पात संयंत्र, दुर्गापुर इस्पात संयंत्र और सेलम इस्पात संयंत्र के 64 कार्मिकों को, ये 13 पुरस्कार मिले हैं.

भिलाई इस्पात संयंत्र के एसएमएस-II के बेसिक ऑक्सीजन फर्नेस में स्कर्ट प्रेशर इम्पल्स लाइन के लिए परिष्करण व्यवस्था की डिज़ाइन, विकास और स्थापना, पुरस्कार जीतने वाली परियोजाओं में से एक है. स्कर्ट प्रेशर लाइन एसएमएस-II के कनवर्टर के गैस क्लीनिंग प्लांट की गैस नलिका में वायु के दबाव को बनाये रखती है. इस्पात निर्माण प्रक्रिया के दौरान स्कर्ट प्रेशर सिग्नल लाइन का निकास बिंदु, कनवर्टर मुख से अत्यधिक नजदीकी के प्रभाव से धातु और अपशिष्ट के छींटों के कारण बंद होने की दशा में आ जाता है, जिसे खर्चीले अक्रिय गैसों के प्रयोग से दूर किया जाता था. भिलाई की इस परियोजना से जुड़े कार्मिकों ने उच्च दाब नाइट्रोजन के प्रयोग से निकास बिंदु के लिए स्वपरिष्करण प्रणाली निर्मित कर, इस चुनौती का निदान प्रस्तुत किया है. यह नई प्रणाली न केवल अधिक कार्यकुशल और स्वच्छ है बल्कि हमेशा के लिए अधिक कार्यकुशलता और तेज कार्यप्रणाली के साथ हस्त संचालित परिष्करण का स्थान ले लिया है.

SAIL to go underground in Begunia

सेल अध्यक्ष श्री सी. एस. वर्मा, विश्वकर्मा राष्ट्रीय पुरस्कार विजेताओं के लिए आयोजित सम्मान समारोह में.

Select List Order: 
1
Go to Top
Copyright © 2012 SAIL, all rights reserved
Designed & Developed by Cyfuture