राउरकेला इस्पात कारखाना के बारे में

राउरकेला इस्पात कारखाना

राउरकेला इस्पात कारखाना

राउरकेला इस्पात कारखाना (आरएसपी) भारत में सार्वजनिक क्षेत्र का पहला एकीकृत इस्पात कारखाना है। 10 लाख टन स्थापित क्षमता का यह कारखाना जर्मनी के सहयोग से स्थापित किया गया। बाद में इसकी क्षमता बढ़ाकर 19 लाख टन कर दी गई। 

1990 के वर्षों में कारखाने का आधुनिकीकरण किया गया और आधुनिक सुविधाओं के साथ इसमें अनेक नई यूनिटें जोड़ी गईं। अधिकतर पुरानी यूनिटों का भी नवीकरण किया गया जिससे कारखाने के उत्पादों की क्वालिटी में सुधार, उत्पादन लागत में कमी तथा पर्यावरण प्रदूषण रहित बनाने में मदद मिली है। आरएसपी भारत में इस्पात निर्माण के लिए एलडी टेक्नोलॉजी का प्रयोग करने वाला पहला कारखाना था। यह सेल का ऐसा पहला और एकमात्र इस्पात कारखाना है जहां शत-प्रतिशत स्लैब अधिक गुणवत्ता और कम लागत वाले कंटीनुअस कास्टिंग मार्ग से तैयार किए जाते हैं।

आरएसपी में इस समय 20 लाख टन तप्त धातु, 19 लाख टन कच्चा इस्पात और 16 लाख 70 हजार टन विक्रेय इस्पात तैयार करने की क्षमता है। यह बिजली क्षेत्र के लिए सिलिकन इस्पात, तेल और गैस क्षेत्र के लिए उच्च क्वालिटी के पाइप तथा पैकेजिंग उद्योग के लिए टीन की प्लेटें तैयार करने वाला सेल का एकमात्र इस्पात कारखाना है। इसके उत्पादों में आधुनिक सपाट, गोलाकार तथा कोटेड उत्पाद शामिल है।

उत्पाद मिश्र टन/प्रति वर्ष
प्लेट मिल में तैयार प्लेट 2,99,000
एचआर प्लेट 92,500
एचआर कॉयल 3,98,000
ईआरडब्ल्यू पाइप 75,000
एसडब्ल्यू पाइप 55,000
सीआर शीट एवं कॉयल 4,33,000
जस्ता चढ़ी शीटें (जीपी एवं जीसी) 1,60,000
इलेक्ट्रोलिटिक टीन की प्लेटें 85,000
सिलिकन स्टील शीट 73,500
कुल विक्रेय इस्पात 16,71,000

स्थान

राउरकेला इस्पात कारखाना उड़ीसा के उत्तर-पश्चिम छोर पर समृद्ध खनिज क्षेत्र में स्थित है। हावड़ा-मुम्बई रेल मुख्य लाइन पर स्थित राउरकेला देश के अन्य महत्वपूर्ण नगरों से भली-भांति जुड़ा हुआ है। इसके पास के हवाई अड्डे रांची (173 किमी.), भुवनेश्वर (378 किमी.) और कोलकाता (413 किमी.) में हैं। राउरकेला की अपनी एक हवाई पट्टी भी है जिसका रखरखाव आरएसपी के पास है।

हमसे संपर्क करें :

राउरकेला इस्पात संयंत्र
आर. कुमार
उप महाप्रबंधनक (जन संपर्क) 
ई-मेल :  r.kumar@sailrsp.co.in "> r.kumar@sailrsp.co.in  
दूरभाष:  91 - 0661-2510050

Set Order: 
1
Go to Top
Copyright © 2012 SAIL, all rights reserved
Designed & Developed by Cyfuture