कौन-सी सूचना नहीं दी जा सकती ?

निम्नलिखित सूचना न देने की छूट है (एस8) 

  1. वह सूचना जिससे भारत की स्वतंत्रता तथा अखण्डता पर आंच आती हो, देश के सुरक्षा रणनीति, वैज्ञानिक या आर्थिक हितों पर बुरा प्रभाव पड़ता हो, किसी विदेशी राष्ट्र से सम्बन्धों पर प्रभाव पड़ता हो अथवा अपराध भावना भड़कती हो।
  2. ऐसी कोई सूचना जिसे प्रकाशित करने पर किसी न्यायालय या ट्रिबुनल ने स्पष्ट रूप से मनाही की हो या जिससे अदालत की अवमानना हो सकती हो। 
  3. वह सूचना जिसे जाहिर करने से संसद या राज्य विधानमण्डल की मानहानि होती हो।
  4. वह सूचना जिससे किसी तृतीय पक्ष की प्रतियोगी स्थिति, जिसमें वाणिज्यिक विश्वास, व्यापारिक गोपनीयता या बौद्धिक सम्पदा, पर प्रभाव पड़ता हो। ऐसी सूचना तब तक नहीं दी जानी चाहिए जब तक की सक्षम प्राधिकारी को यह संतुष्टि न हो कि इस सूचना के जाहिर करने से वृहद जनहित को नुकसान पहुंचेगा। 
  5. किसी के पास अमानत के तौर पर रखी गई सूचना, जब तक कि सक्षम अधिकारी को यह विश्वास न हो कि वृहद जन-हित को देखते हुए सूचना देना जरूरी है।
  6. किसी विदेशी सरकार से भरोसे में ली गई सूचना। 
  7. ऐसी सूचना जिसे जाहिर करने से किसी व्यक्ति के जीवन या शारीरिक सुरक्षा पर आंच आती हो या सूचना के óोत का बोध होता हो या कानून लागू करने व सुरक्षा कारणों से दी गई जानकारी।
  8. वह जानकारी जिसे जाहिर करने से जांच प्रक्रिया या गिरफ्तारी या दोषियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई में रुकावट आती हो। 
  9. मंत्रिपरिषद्, सचिवों तथा अन्य अधिकारियों के बीच विचार-विमर्श के रिकार्ड सहित केबिनेट दस्तावेज।
  10. किसी के व्यक्तिगत जीवन के बारे में ऐसी सूचना जिसका किसी सार्वजनिक गतिविधि या हितों से कोई संबंध नहीं है और जो बेकार ही में व्यक्ति के निजी जीवन में दखल देते हों। 
  11. उक्त छूट के अलावा सार्वजनिक संस्था व सूचना जारी कर सकती है जिसे बताए जाने में लाभ बताए जाने में हानि की अपेक्षा अधिक है।
Go to Top
Copyright © 2012 SAIL, all rights reserved
Designed & Developed by Cyfuture