सेल अध्यक्ष ने कंपनी की 49वीं वार्षिक आम बैठक में कहा कि सेल विस्तारीकरण के अपने अगले चरण की ओर बढ़ने के लिए तैयार है

Press Release
नई दिल्ली

नई दिल्ली, 28 सितंबर, 2021: स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने आज अपनी 49वीं वार्षिक आम बैठक वर्चुअल प्लेटफार्म पर आयोजित की। इस अवसर पर, सेल अध्यक्ष श्रीमती सोमा मण्डल ने कंपनी के लोदी रोड, नई दिल्ली स्थित मुख्यालय से बैठक में भाग लेते हुए शेयरधारकों को संबोधित किया।

सेल अध्यक्ष ने कंपनी के शेयरधारकों को सेल की कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं / प्रमुख बिन्दुओं से रूबरू कराया। उन्होंने वित्त वर्ष 2021 को सेल के लिए 'विकास और नई ऊंचाइयों को छूने' का साल बताते हुए कहा कि सेल ने वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान अब तक का सर्वाधिक 13,740 करोड़ रुपये का एबिटडा (EBITDA) दर्ज किया है जो पिछले वित्त वर्ष 2019-20 की तुलना में 23% अधिक है। कंपनी की लाभप्रदता में सुधार लाने में जिन कारकों ने मदद की, उनमें सेकेन्डरी प्रोडक्ट्स की अधिक बिक्री, लौह अयस्क फाइन्स की बिक्री, अन्य कच्चे माल का कम उपयोग, तकनीकी-आर्थिक मापदंडों में सुधार, स्टोर और पुर्जों के खर्चों में सुधार, खरीदी गई बिजली दरों में कमी, ब्याज शुल्क में कमी, डिविडेंड से आय बढ़ाने और फ़ोरेक्स एक्सचेंज लाभ इत्यादि शामिल हैं। कंपनी का कर-पूर्व लाभ (पीबीटी) पिछले दस वर्षों में सबसे अधिक रहा। कंपनी अपनी उधारी में 16,000 करोड़ रुपये से अधिक की कमी लाते हुए उसे 35,350 करोड़ रुपये पर ले आई, जिससे ऋण-इक्विटी अनुपात 31.03.2020 के अनुसार 1.36 से बेहतर होकर 31.03.2021 को 0.87 हो गया।

Sm

श्रीमती मंडल ने कोरोना महामारी के जारी प्रभाव के चलते कंपनी द्वारा सामना की जा रही विभिन्न चुनौतियों को देखते हुए, शेयरधारकों को कोविड-19 के प्रभाव से निपटने के लिए कंपनी द्वारा उठाए कदमों के बारे बताया। कंपनी ने प्रगामी कदम उठाते हुए, कंपनी के प्रचालन को सुचारु रूप से बनाए रखने के लिए योजनाओं और रणनीतियों पर नए सिरे से काम किया गया, जिसमें से कुछ को रेखांकित करते हुए, उन्होंने कहा, सेल ने अपनी सुविधाओं का अधिक संख्या में उनकी क्षमता से कम स्तर पर इस्तेमाल करने के बजाय प्रचालित क्षमताओं का उनके सर्वोत्तम स्तर पर प्रचालन किया गया। कंपनी ने विभिन्न इनपुट मैटेरियल की खपत मात्रा में कमी लाके लागत में कमी करने के साथ – साथ जहां भी संभव हुआ, वहां कैपिटल रिपेयर्स को प्री-पोन किया गया। इस मुश्किल समय के दौरान, कंपनी ने निर्यात, रेलवे को डिस्पैच जैसे पोटेन्सियल चैनलों के माध्यम से विक्रय को अधिकतम किया, साथ – ही - साथ कमिटमेंट्स की समीक्षा और कांट्रैक्ट्स के रिनिगोसिएशन से नगदी के प्रवाह में कमी आई।

उन्होंने कहा कि कंपनी ने न केवल न्यूनतम व्यवधानों के साथ अपने संचालन को जारी रखने पर ध्यान केंद्रित किया, बल्कि यह भी सुनिश्चित किया कि कर्मचारियों और आसपास के क्षेत्रों में आबादी की सुरक्षा से समझौता किए बिना इसे हासिल किया जाए। वास्तव में कंपनी ने देश की कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में अपनी महत्वपूर्ण भागीदारी निभाई है। उन्होंने शेयरधारकों को देश भर में स्थित अपने सभी संयंत्रों और इकाइयों में कोविड -19 की महामारी से निपटने के लिए किए गए व्यापक प्रबंध के बारे में बताया। श्रीमती मण्डल ने अपने संबोधन में, सेल की विभिन्न पहलों पर प्रकाश डाला, जिनमें शामिल हैं -

  • कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए व्यापक चिकित्सा ढांचा विकसित करने के साथ –साथ इन सुविधाओं का दूसरी लहर के दौरान और विस्तार किया। सेल के 5 एकीकृत इस्पात संयंत्रों के अस्पतालों ने शुरू में अपने कुल बेड्स क्षमता का 10% या 330 बेड्स CoVID-19 रोगियों के लिए निर्धारित किए गए थे, जिसे बाद में ऑक्सीजन की सुविधा से युक्त CoVID-19 रोगियों के लिए डेडिकेटेड 1000 बिस्तरों तक बढ़ाया गया।
  • कंपनी के संयंत्र के विभिन्न लोकेशन्स पर संयंत्रों से सीधे गैसीयस ऑक्सीजन आपूर्ति की की सुविधाओं से युक्त कोविड केयर यूनिट्स की स्थापना की गई
  • सेल ने संबंधित राज्य सरकारों के साथ मिलकर सेल अस्पतालों में RAT, RTPCR, TRU-NAT जैसी CoVID-19 परीक्षण सुविधाओं का विकास किया
  • कंपनी के कोविड -19 संक्रमण की वृद्धि से निपटने के अन्य पहलों में आज तक विभिन्न राज्यों में 1 लाख मीट्रिक टन से भी अधिक लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) की आपूर्ति भी शामिल है।

कंपनी की विकास योजनाओं पर बात करते हुए, श्रीमती मण्डल ने शेयरधारकों से कहा कि अपनी बेहतर हुई स्थिति के साथ, कंपनी विस्तार के अगले चरण में जाने के लिए तैयार है।

उल्लेखनीय है कि सेल अपनी स्थापना के समय से ही राष्ट्रीय महत्व और रणनीतिक महत्व की बड़ी परियोजनाओं से लेकर छोटे से छोटे खुदरा उपभोक्ताओं को स्टील की आपूर्ति करके राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देता रहा है। वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान, सेल ने कटरा से बनिहाल सुरंग परियोजना, बीआरटीएफ लेह-लद्दाख परियोजना, लेह हवाई अड्डा, ईस्टर्न डेडीकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉर्पोरेशन, असम की लोअर सुबनसिरी हाइडल प्रोजेक्ट, त्रिपुरा की अगरतला-अखुरा रेल लिंक परियोजना जैसी परियोजनाओं के लिए स्टील की आपूर्ति की है।

शेयरधारकों को सेल द्वारा बाज़ार के निर्धारित क्षेत्रों को लक्षित करके अपनी उपस्थिती बढ़ाने के लिए किए गए नियमित पहलों के बारे में सूचित किया गया। कंपनी अपनी रिटेल उपस्थिति को मजबूत करने के लिए देश भर में 2-टियर और 1-टियर वितरण नेटवर्क का भी विस्तार कर रही है।

                                                                                                                                                                   दिनांक: 28.09.2021

Press Release No
सेल/पीआर/2021-22/16